सुतार के घर की रोटी, ब्राह्मण के घर की दाल।

        छप्पन भोग में भी नही ऐसा कमाल।

  सुतार के  घर  का आचार
        बदल देता है विचार।

 
सुतार के  घर  का पानी।     
शुद्ध करे वाणी।

सुतार के घर  के फल और फूल।
      उतार देती है जन्मों -जन्मों की धूल।
सुतार की  छाया।
        बदल देती है काया।

सुतार के घर  का रायता।
        मिलती है चारों और से सहायता।

 सुतार के घर के आम।
       नई सुबह नई शाम
 सुतार के घर का हलवा
      दिखाता है जलवा।

सुतार की सेवा।
     मिलता है मिश्री और मेवा।

    💐💐  जय बोलो  💐💐
 🌷     श्री विश्वकर्मा जी महाराज 🌷 सुतार हो तो आगे शेयर जरूर करें🙏🏻🙏🏻🙏🏻👍🏼👍🏼👍🏼👍🏼👍🏼

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट